कैसे बढाएं अपनी dream life की तरफ अपने कदम ?

Posted on by
Move towards your ideal life

May you live all the days of your life.

 

 कैसे बढाएं अपनी dream life की तरफ अपने कदम ?

दोस्तों अगर मै अपने आस पास देखता हूँ तो मुझे एक्का-दुक्का लोग ही ऐसे दिखते हैं जो अपनी dream life  या ideal life जी रहे हैं. मेरे लिए ये कोई tension की बात नहीं है,पर  जो बात मुझे चिंतित करती है वो ये है कि बहुत कम लोग ही अपनी ideal life के बारे में सोचते हैं , और उससे भी कम उसे पाने का प्रयास करते हैं.

Ideal life से मेरा मतलब है एक ऐसी ज़िन्दगी जो आपके लिहाज़ से सबसे अच्छी हो,आपकी मनचाही हो,जिसे आप सच-मुच enjoy करें.

क्या आपने कभी सोचा है कि आपकी ideal life कैसी होनी चाहिए ? नहीं, तो अभी से सोचना शुरू कर दीजिए. जिंदगी इतनी लम्बी नहीं है कि आप इस ज़रूरी काम को टाल सकें. और  दूसरी  बात  कि  ये  कोई  ऐसी  चीज  भी  नहीं  है  कि  इसे आज  सोचा  और  कल  पूरी  हो  गयी , इसमें  सालों  लग  सकते  हैं  या  एक  दशक  भी !!! पर  जब  भी  आप  इस  life को  पा  लेंगे  आप  दुनिया  के  सबसे  खुशहाल  लोगों  में  होंगे . इसलिए  आपको  इस  ओर कदम  बढ़ाना  ही  होगा .

अगर मैं अपनी बात करूँ तो फिलहाल मैं भी अपनी ideal life से दूर हूँ, पर इतना ज़रूर है कि मैं ये जानता हूँ कि मेरी ideal life कैसी होगी और मैं तेजी से उसकी तरफ बढ़ रहा हूँ. और शायद अगले दो – तीन सालों में वो reality होगी.

मेरे विचार से यदि आपको जानना है कि आपका आदर्श जीवन कैसा होगा तो आपको कुछ प्रश्नों के उत्तर अपने अंदर ढूँढने होंगे:

  •  आप अपनी ज़िंदगी कहाँ बीताना चाहते हैं?
  • क्या करते हुए बीताना चाहते हैं ?
  • किन लोगों के साथ बीताना चाहते हैं ?

और ये ध्यान रखना होगा कि इन प्रश्नों के उत्तर आपके अंदर की आवाज़ हैं ना  की society को impress करने के लिए कही गयी बातें.

For example: यदि आप एक सादा जीवन जीने में यकीन करते हैं तो आपके आदर्श जीवन में लम्बी लम्बी गाड़ियों और बड़े बड़े बंगलों की महत्ता नहीं है, पर सिर्फ इसलिए कि society इन्ही चीजों से impress होती है, आप इसे अपनी ideal life में include करें ये सही नहीं होगा. आपको सिर्फ खुद को impress करना है और किसी को नहीं.

आपको इन प्रश्नों के उत्तर विस्तार से सोचने होंगे. और यदि आप इस सोच को हकीकत बनते देखना चाहते हैं तो आपको इनमे डूबना होगा. आप चाहें तो इनसे सम्बंधित कोई sketch या  painting भी बना सकते हैं. या अपने दिमाग में एक छोटी सी movie बना सकते हैं ,जिसे आप बार बार अपने  mind में  play कर के देख सकते हैं. मैं अपनी ideal life के बारे में अक्सर अपनी diary में लिखता हूँ. और लगभग हर रोज उस बारे में सोचता हूँ. ऐसा करते वक्त मेरे आँखों के सामने कुछ दृश्य गुजरते हैं , जो मुझे खुशी का एहसास कराते हैं.
जहाँ तक ज़िन्दगी कहाँ और किन लोगों के साथ बीताने का प्रश्न है इनके उत्तर तो आप आसानी से सोच सकते हैं पर Ideal life  के बारे में plan करते हुए जो सबसे बड़ा challenge आपके  सामने  आ  सकता  है  वो  है  रोज़ी  रोटी  का  सवाल . शायद  आपका  काम आपको वहां  नहीं  जाने  देता  जहाँ  आप  रहना  चाहते  हैं ? इसीलिए  एक  ideal life के  बारे  में  सोचने  में  सबसे  ज़रूरी  है  कि  आप  अपने  काम  के  बारे  में  गंभीरता  से  सोचें .

यहाँ मैं काम से सम्बंधित दो rules आपके साथ share करना  चाहता  हूँ, जो आपके लिए helpful हो सकते हैं  :

10,000 Hour Rule:

 जाने  माने  author Malcolm Gladwell , कि  theory के  मुताबिक  आप  जो  कुछ  भी  करते  हैं  उसमे  महारथ  हासिल  करने  के  लिए  आपको  कम  से  कम  उस  काम  को  10,000 घंटे  करना होता है तभी  आप  उसमे  expert बन सकते हैं. इसका मतलब है  कि  यदि आप  रोज़  5 घंटे  किसी  काम  को  करेंगे तो  भी  Expert बनने  में  आपको 5-6 साल लग जायेंगे . इसलिए  patience रखिये , इसमें  time लगेगा.

Expert क्यों बनें ?

ताकि  आप  अपनी  terms and conditions पे  काम  कर  सकें . आप  चाहे  जिस field में  हैं  उसमे  best बनिए . यदि  आप  कोई  subject पढ़ाते  हैं  तो  उसमे  इतना  रम  जाइए  कि  आपकी  जैसी  जानकारी   वाला दूसरा कोई  दूर  दूर  तक  ना  हो . यदि  आप accounts का काम  करते  हैं  तो उसमे महारथ हासिल कर लीजिये ताकि लोग आपको एक consultant के रूप में देखें. Experts की respect होती है , उनका  नाम  होता  है  और  उन्हे  कभी  काम  की  कमी  नहीं  रहती …..चाहे  वो  जहाँ  रहे.

इसका  एक  example आप  अपने  High School- Inter days में  देख  सकते  हैं , ऐसे  कई  teachers होते  हैं  जो  किसी  school में  नहीं  पढ़ाते  पर  उनके  यहाँ  tuition पढने  वालों  की  line लगी  रहती  है …क्योंकि वो  अपने  subject में  expert होते  हैं . और  वो  ये  रुतबा  अपने  हज़ारों  घंटो  की  मेहनत  के  बाद  ही  हासिल  कर  पाते  हैं.

यदि आप currently जो काम करते हैं वो आपके मन का नहीं है तो आप रोज़ अपने मन के काम के लिए कुछ समय निकालिए और धीरे धीरे उसमे expert बनने का प्रयास कीजिये, George Burns की ये बात याद रखिये ,”जिस चीज  को आप चाहते हैं उसमे असफल होना जिस चीज को आप नहीं चाहते उसमे सफल होने से बेहतर है.” इसलिए लगे रहिये देर से ही सही एक दिन आप ज़रूर सफल होंगे. और जब  आप एक  expert बन  जायेंगे  तो  शायद  आप  अपने  dream place या  उसके  आस -पास  जा  कर  भी  अपना  काम  कर सकें . Globalization के  इस  दौर  में ऐसा  पहले  से  कहीं  अधिक  संभव  है . और  Internet के  माध्यम  से  भी  बहुत  से  लोग  अपने मन  का  काम  घर  बैठे  कर पा रहे  हैं .

Be Number 1 or 2 in your work

General Electric को  नयी  ऊँचाइयों  तक  पहुचाने  वाले CEO JACK WELCH की  एक  philosophy थी  कि  आपकी  company जिस  business में  भी  है  उसमे  या  तो  number 1 हो  या  number 2.

इसी  philosophy को  थोडा  mould कर  के  हम  अपनी  life में  भी  use कर  सकते  हैं . आप  जो  भी  काम  करते  हैं  उस  काम  में अपने  area में  number 1 या  number 2 बनिए . Area कैसे  define करना  है  ये  आपके  ऊपर  है  यदि  आप  किसी  छोटे  शहर  में  हैं  तो  पूरा  का  पूरा  शहर  ही  आपका  area हो  सकता है , और यदि आप  Delhi जैसी  बड़ी  जगह  पर  हैं  तो  आप  उसके  किसी इलाके में  #1 या  #2 बनने  का  लक्ष्य  निर्धारित  कर  सकते  हैं .

दोस्तों  आज  आप चाहे जिस  condition में  हों  , चाहे  जो  भी  आपकी  age हो , आप  अपनी  ideal life के  बारे  में  सोच  सकते  हैं  और  उस  तरफ  बढ़ने  के  प्रयास  में  जुट  सकते  हैं . और  यदि  आप  twenty something हैं  तो  फिर  तो  आप  बहुत  ही  अच्छी position में  हैं , अगर  आप  आज  से  ही effort करें  तो  probably 30 तक  पहुँचते  -पहुँचते  आप  अपने  मन  की  ज़िन्दगी  जी  रहे  होंगे . और  यदि  आप  की  age अधिक  भी  हो  तो  भी  ज़िन्दगी  भर  एक  second class life जीने  से  अच्छा  होगा  की  आप  जितनी  जल्दी  हो  सके  अपनी ideal life को reality बना पाएं.

All the best. :)

—————————————————————

निवेदन : यदि  यह  लेख  आपके लिए लाभप्रद रहा हो तो कृपया  कृपया  comment के  माध्यम  से  मुझे बताएं.और इसे अपने Facebook friends  के साथ ज़रूर share करें .

यदि आपके पास English या Hindi में कोई good article,  inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है:achhikhabar@gmail.com.पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!
नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए Sign Up करें.

18 thoughts on “कैसे बढाएं अपनी dream life की तरफ अपने कदम ?

  1. nandni dubey

    hello sir , pehley Mai jab kabhi is bare Mai sochti thi to samjh nahi ata tha kya Karna hai aur kyse Karna hai thks mujhe decision lene Mai madad mile……………..

  2. Preeti

    Hi,very nice sir me hmesha confuse rhti hu koi decision nahi le pati in kamiyo ko dur krne ke upay btaye

  3. wasim khan

    This one is great .if u want to do something than u have to set r goals in ur mind n u have to work as per requirement of ur goals……….

  4. Anonymous

    aap ka ye artical kaafi jaada pasnd aaya sir. meri likhne mai ruchi h mai apni baate ap k iss blog par share karna chahta hu pls mujhe iss ka process batae.

  5. Prem singh

    Sapne to har insaan dekhta hai, par pure nahi kar pata, main ye nahi keh raha sapne nahi dekhna chahiye, dekho sapne aur pure bhi honge, par tab jub insaaan sach ke raaste par chalta hai,

    Yaan kahi log kanhge ki aj ke samye me sach kaha raha hai, yahi to hamare sub logo ki galat femi hai,

    Har ik insaan chahta hai ki mujhe aache aur sache insaan mele jiske saath me kaam karke agye badoon. par shiruaat hi koi nahi karta jiske karan jo hum sapne dekhte hai pure nahi hote, sach vo taqat hai, jis ke sir par hum jub marji jaha marji, hum apne aap ko kabhi bhi kahi bhi kse ke aagye bhi chota nahi dekhende. hamara aadhe se bhi jada samye apne jhooth ko chupane main lag jata hai, jiske karan hum apna pura jivan isi me battit kar dete hai, jhooth ki shiruaat se kabhi sapne pure nahi hote, har ik safal insaan ne sach ke buniyaad rakhke apna jivan shiru kiya hai.

  6. sunil pal

    aapka 15jan. ka lekh bahut prernadai tha.ise padhkar andar se safalta ke prati junun aa gaya. thanks.

  7. vijay shroff

    सरजी मेरे पास अभी कोई काम नहीं है. मेने अभी अभी मेरी जॉब छोड़ दी है. और में कोम्पुटर का जानकार हु और मेरे पास इन्टरनेट की सुविधा है अगर आपके ध्यान में कोई ऑनलाइन काम है तो मुझे बताईयेगा . सरजी में आप के ब्लॉग पे लिखी हुई स्टोरी रोज पढता हु.और इसके लिए में आप को धन्यवाद देता हु .

  8. सतीश

    आपने बहुत अच्छा लेख लिखा है | बधाई|
    मेरा विचार है कि अगर आप अगर खुद से ही competition करें और आज, कल से बेहतर करने का प्रयास करें तो आप इसे और interesting बना सकते हैं|

  9. Khilesh

    हमारी तरफ़ से
    इंस्पायरेबल साईट नं. १

    बहोत बढीया ।

Comments are closed.