Tension से निकलने के 5 तरीके

Posted on by

Friends,  ज़िन्दगी      मे    tension आनी  ही  आनी  है   , कभी   ये  कुछ

Tips to Be Tension Free in Hindi

I am happy!

घंटों   के  लिए   आती   है  तो   कभी  ये  महीनो   तक   हमारे   पीछे   लगी   रहती   है  . इस   बार   दिवाली   से  just पहले    मेरे   साथ   भी  कुछ  ऐसा   ही  हुआ.   जहाँ   मैं  generally  खुश   रहता   हूँ  , ओर   अपने  आस – पास  का  माहौल  भी  वैसा   ही  रखता   हूँ , वहीं       मुझे   किसी   बात   को   लेकर   बहुत   tension हो  गई  . मुझे   याद   नही   कि   इससे   पहले  मैं  कभी  इतना   ओर  इतनी  देर   तक tense  रहा  होउंगा    almost for 2 days. ख़ैर  !!

मेरी wife को  भी ये  बहुत  अटपटा   लग रहा   था  क्योंकि  “tension”  तो  उसका   department है ओर फि़लहाल  मैं  उसका  HOD बन  के  बैठा था :) , just kidding.

उसने   मुझे कई  तरह   समझाने   ओर  stress free करने  की   कोशिश   की  पर   पता   नही  मुझे  क्या   हुआ  था मैं,  तो मानो  कुछ  समझने   के  लिए  तैयार   नही  था ,  पर  तभी   उसने  एक   बात  कही -”जो  अपने काम से  इतने   लोगों   को  help करता है उनकी life में खुशियां  लाता  है अगर वो   ऐसे   रहेगा तो  कैसे  चलेगा  … शायद   भागवान   देखना   चाहते   हैं   कि  आप   जो  बातें   औरों   को  बताते   हैं  वो  खुद   apply करते   हैं  कि  नही !!”

ये!!!”   बात  मुझे  छू   गई अब अपना   mood सही   करने  के  लिए  मैं और भी conscious हो गया और  अपनी   ही  लिखि   चीज़ों   के  बारे   में  सोचने   लगा , उसके   अलावा   मैंने   कुछ  ओर  तरीके  भी  अपनाये  ताकि   जल्दी   से  stress free हो सकूं   , ओर  आज   इस  post में  मैं  आपके   साथ  ऐसे ही   कुछ  तरीके  share कर  रह  हूँ  जिनसे   मुझे  फायदा   हुआ :

1) अपने टेंशन का कारण किसी करीबी से share करें :

किसी ऐसे से जो आपके साथ empathize कर सके , मैंने अपना concern अपनी wife से share किया, या ये कहें कि  वो खुद ही ये समझ गयीं , आप भी अपने life partner , parents या किसी friend से अपनी बात कह सकते हैं . बस इतना ध्यान रखिये की वह व्यक्ति tried and tested हो , जिसपर आप आँख मूँद कर भरोसा कर सकते हों . जब आप ऐसा करेंगे तो आपका मन हल्का होगा और चूँकि सामने वाला आपके लिए उतना ही concerned है तो वो भी आपको tension relieve करने में कुछ help कर सकता है , और आप psychologically better feel करेंगे की अब आप अकेले नहीं है , कोई है जो आपकी problem को समझता है .

2)      ऐसे   लोगों  से  बात  करें जिससे बात  करने  में  खुशी   मिलती   हो … मजा आता  हो:

 हमारी  life में  कई  लोग   होते   हैं  जिनसे  हमारे   बहुत अच्छे  रिश्ते   होते  हैं  ओर  हम   उन्हें   बहुत  मानते   हैं . लेकिन   मैं  जिन   लोगो   से  बात  करने  की  बात  कर  रह  हूँ  वो  भले   आपके  favourite list मे   आते   हों   या   नही  पर  आपको   उनसे   बात  करने  मे  मजा आता  हो , जिनके   साथ  आप  खिलखिला   कर  हँस   सकते   हों . Luckily मेरे  पास  ऐसे  कई  friends हैं… मैंने झट  से  ऐसे ही दो  दोस्तों  को  phone लगाया   ओर  खूब   जम   के  हँसा  . मैंने उनसे अपनी problem नही discuss की बस इधर उधर की हँसी  मजाक की बातें की , friends ज़ब  आप  हँसते   हैं  तो  आपकी   body stress hormones को  reduce कर  देती   है  जिससे  tension कम   हो  जाती   है .

3)      खुश   रहने   के  बारे  में  पढ़ें :

 आप  internet पे   search कर  के  ऐसे  कई  articles पढ़   सकते  हैं  जो  आपको  खुश  रहने  के  बारे  अच्छी   जानकारी   दे  सकते  हैं . मैंने   Psychology Today पर  कुछ  articles पढ़े   जो  काफ़ी   helpful थे  . इसके   अलावा  आप  spiritual articles , quotes भी  पढ़  कर  अपनी  tension कम  कर  सकते  हैं . ओर   अगर  internet easily accessible नही  है  तो  आप   ऐसी  कुछ  magazines पढ़  सकते  हैं , या  internet से  print लेकर  अपने  पास  रख   सकते  हैं.

 दरअसल, पढ़ना   हमारी   thoughts को  change करता  है ओर…  सारा   खेल   इन्हीं   thoughts का  ही  तो  है !!

4)      ये  समझें   की  आप  जितना   tense होंगे   आपकी  life में  उतनी ही  कठिनाइयाँ  आयेंगी:

 जैसा  की  मैं  पहले  भी  बता   चुका   हूँ  Law of Attraction हर   जगह   काम करता   है इसलिए  हम   जितना  अधिक   दुखी   रहते   हैं  , दुख   के  बारे   मे  सोचते   हैं  उतना   अधिक  ये  हमारी   reality मे  दिखाई   देता   है . मुझे  ये  अच्छे   से  पता  था , मैं  life में  ओर  tension नही  चाहता   था इसलिए…  मैं  intentionally अपनी  thoughts को  opposite direction मे  ले जाने  की कोशिश कर रहा  था  ओर  जल्द   ही  इसका   फायदा   भी  मुझे  मिल   गाय  .

5)      भगवान  से  अकेले   मे  बात  करें:

 अगर  आप  atheist हैं  तो  बात  अलग   है , पर  अगर  आप  भगवान  को  मानते  हैं  तो  उनसे  अकेले  में  बात  करें . आप  किसी  शान्त   जगह  चले   जाएँ  ओर…  भागवान  ने   आपको  जो  कुछ  दिया   है  उसके  लिए  thanks करें . आप  इस  बात  को  समझें  कि  दुनिया   मे करोड़ो    लोग  हैं  जो  आपसे   कहीं   बदतर  स्थिति   मे  हैं  पर ईश्वर  की  कृपा   से आपकी   स्थिति    उनसे  बहुत अच्छी   है ओर…  उससे   भी  बड़ी   बात  कि  भागवान  ने  आपको  वो  सब  कुछ  दिया  है  जिससे  आप  अपनी  life ओर  भी अच्छी   बना   सकते  हैं .

साईं बाबा का कहना  भी है- “अगर मेरा भक्त गिरने वाला होता है तो मैं अपने हाथ बढ़ा कर उसे सहारा देता हूँ.”

Friends, मैंने  ये पाँच  points practically use किए   हैं और मुझे फायदा हुआ पर  मुझे नहीं पता आपके लिए ये कैसे काम करेंगे  इसलिए आप experts द्वारा recommended और भी चीजें try करते हैं , जैसे कि - एक अच्छी नींद लेना, Meditate करना, गहरी साँसे लेना , अपने पसंद का music सुनना, योग करना , etc.

अगर आप ध्यान दें तो अक्सर हमारी life  में जो tension आती है उसकी शुरुआत छोटी होती है , लेकिन हम खुद ही उसे अपनी negative thoughts से  feed करते जाते हैं और धीरे-धीरे वो बड़ा रूप लेने लगती है .

हमें इस बात को accept करना होगा की हमारी टेंशन का मुख्य कारण external नहीं internal होता  है , और उसे control करना सिर्फ और सिर्फ हमारे हाथ में है, और यकीन जानिये हम अपने थोड़े से effort से बहुत हद्द तक तनाव मुक्त हो सकते हैं . और ऐसा करने के लिए सबसे पहला स्टेप यही है कि  हम  तनाव को पालने की बजाये उसे टालने का प्रयास करें। मैंने कुछ महीनो पहले AKC पर एक story post की थी ,  ग्लास को नीचे रख दीजिये  , इस  कहानी की भी यही सीख है- ”  Life की problems ऐसी  होती हैं कि  आप  इन्हें कुछ देर तक अपने दिमाग में रखिये और लगेगा की सब कुछ ठीक है.उनके बारे में ज्यदा देर सोचिये और आपको पीड़ा होने लगेगी.और इन्हें और भी देर तक अपने दिमाग में रखिये और ये आपको paralyze करने लगेंगी. और आप कुछ नहीं कर पायेंगे. “

So, let’s make an effort to be stress free….and spread happiness.

Thanks. :)

————————————————-

Note: यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है:achhikhabar@gmail.com.पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

39 thoughts on “Tension से निकलने के 5 तरीके

  1. LAXMAN SONI

    SIR MERA 27 JUNE 2014 KO ACCIDENT HO GAYA THA USE BAD maine 2 july ko laptop par achanak akc wbsite dekhi din bhar bistar par bauthkar aapk lekh padhta raha aur muze sai ke ashirvad aur apki article se help mili meri story hai jo mail karnga

    Reply
  2. Ravi Kumar Saroya

    I am ravi kumar from faridabad mene tumhare sabhi article read kiye or m sucide karne se bach gaya or life ko ek naye tarike se dekhne laga

    Reply
  3. Anonymous

    All topics are realy best in life . i have realy agree that`s all topics.

    all topics i was read after in my life i have positiv thinking .
    thank you so much.

    Reply
  4. Raju

    Good.sir aaj ke baad mujhe bhi apni soch badalne ka mouka mil gya hai sir mai life mai aage badhna chahta tha magar ab mujhe bhagwan aur aap ka sath mil gya hai ab mujhe lagta hai ki mai life mai aage badh paunga ki jine kasahara bhagwan ne diya aur sath chalne ka aapne mai. Aap ki story padh kar bahut khus hu thank sir. I pray to god do your long life .

    Reply
  5. Babita Baingne

    It is very ipiring post..frist time I am reading this post then i feeling too stressless so I think whenever I will folllow this all thing then how much I will be Happy and stressless? tooo much….right naa..so try it I will also…

    Reply
  6. Payal

    Its really gud to read this post….Mai bhi kuch aese hi bure waqt se gujar rahi hu pr shayd ye bura waqt mera waham hai…Thanks 4 dis inspiration

    Reply
  7. Anju Singh

    Good one Mr. Gopal. Its very nice to have a people like u and ur wife who help us, motivates us and inspired us without knowing each other.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>